Tue. Apr 23rd, 2024
कई दिग्गज ब्रोकरेज की रिपोर्ट ओं का यदि हम भरोसा करें तो इस बात का अंदेशा लगता है कि पेटीएम का बुरा दौर खत्म हो सकता हैl
वित्त वर्ष 2021 -22 की चौथी तिमाही में नुकसान बढ़ने के बावजूद विश्लेषकों को दिक्कत पेटीएम का शेयर यहां से दुगुने से ज्यादा होने की उम्मीद है जिसकी वजह मार्जिन में सुधार और वित्त वर्ष 2023- 24 के आखिरी तक कंपनी का समायोजित एबिटा break-even कंपनी बनने का अनुमान हैl
कुछ brokers ने इस share का अधिकतम लक्ष 1400 दिया है जो मौजूदा कीमत से 126%  की ग्रोथ दर्शाता है l
जो ब्रोकरेज इसमें गिरावट की आशंका जता रहे हैं उनके अनुसार यह शेयर 27 precent टूटकर ₹450 पर आ सकता हैl
बीते सोमवार के ट्रेडिंग सेशन में यह शेयर ₹619 के आसपास बंद हुआl
नियामक की चिंता और लाभ में आने की पेटीएम की क्षमता पर संदेह ने निवेशकों को किनारे रखा है लेकिन गोल्डमैन सैक्स का मानना है कि पेटीएम पर जोखिम प्रतिफल का झुकाव बढ़त की ओर हैl
ब्रोकरेज ने 22 मई की रिपोर्ट में कहा है कि पेटीएम पर वित्त वर्ष 23 ev/ sales 3.7 गुने पर कारोबार कर रहा है जो भी वैश्विक कंपनियों के मुकाबले 25 फ़ीसदी कम हैl
वित्त वर्ष 22 की चौथी तिमाही में पेटीएम का शुद्ध नुकसान ₹763 रहा जो 1 साल पहले की समान अवधि में 444 करोड रुपए था उसका राजस्व हालांकि 89 % की उछलकर 154 करोड़ रुपए पहुंच गया कंपनी ने ₹370 की नकदी एबिटा दर्ज किया जो तीसरी तिमाही में -400 करोड रुपए रहाl
मार्च 2022 में पेटीएम का सफल नकटी शेष 1.2 अरब डॉलर था और गोल्डमैन सैक्स को उम्मीद है कि वित्त वर्ष में 24 के आखिरी में समायोजित एबिटा के स्तर पर कंपनी लाभ में आ जाएगीl

 मार्च तिमाही में उधारी योजनाओं में सुधार और बाय नऊ पे लेटर बिजनेस में बढ़ोतरी देखी थी समायोजित एबिटा मार्जिन में इजाफा हुआ इसके अलावा वित्तीय सेवा राजस्व में इजाफा हुआ और विपणन खर्चे कम हुआl

पेटीएम ने 3550 करोड रुपए के 6500000 कर्ज वितरित किए जो तिमाही दर तिमाही के आधार पर 48 फ़ीसदी और सालाना आधार पर 371 से अधिक ज्यादा हैl
बाय नऊ पे लेटर लोन में 83 फ़ीसदी, पर्सनल लोन में 56 % तथा मर्चेंट नॉन में 19 फ़ीसदी का इज़ाफ़ा हुआ हैl
आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज लिखा है या पर्सनल लोन ओं क्रेडिट कार्ड समय ज्यादा मौके बता रहा है क्योंकि पेटीएम ब्रांडेड क्रेडिट कार्ड में 40 फ़ीसदी की बढ़ोतरी देख चुकी है और इसका इस्तेमाल पोस्टपेड यूजर्स कर रहे हैं और 50 केजी पोस्टपेड ग्राहकों को पर्सनल लोन की पेशकश की गई हैl
इस वजह से आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज का अनुमान है कि 1.8 से 1.9 करोड़ ग्राहक और 1200000 मरचेंट्स वित्त वर्ष 26 तक पेटीएम प्लेटफार्म से वित्तीय उत्पाद लेंगे इसमें कहा गया है कि हमें लगता है कि वित्तीय सेवा राजस्व वित्त वर्ष 22 से वित्त वर्ष 26 तक 58 फ़ीसदी सीएजीआर के हिसाब से बढ़ेगाl
इसके अलावा मैक्वेरी ने इसका लक्ष्य ₹450 तय किया है जबकि यस सिक्योरिटी इसका ने इसका लक्ष्य घटाकर ₹580 किया हैl

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *