Tue. Apr 23rd, 2024

 दोस्तों आज के आर्टिकल में हम बात करते हैं केमिकल सेक्टर के 1 शेयर की जिसका नाम है लक्ष्मी ऑर्गेनिक्स

About Company

1989 में निगमित, लक्ष्मी ऑर्गेनिक इंडस्ट्रीज लिमिटेड एक विशेष रसायन निर्माता है जो 2 व्यावसायिक क्षेत्रों में काम करती है; एसिटाइल इंटरमीडिएट्स (एआई) और स्पेशलिटी इंटरमीडिएट्स (एसआई)। यह भारतीय एथिल एसीटेट बाजार में 30% से अधिक बाजार हिस्सेदारी के साथ एथिल एसीटेट का अग्रणी निर्माता है और भारत में डाइकेटीन डेरिवेटिव का एकमात्र निर्माता है।

इसके एआई खंड में एथिल एसीटेट, एसीटैल्डिहाइड, ईंधन-ग्रेड इथेनॉल और अन्य मालिकाना सॉल्वैंट्स शामिल हैं, जबकि एसआई खंड में केटीन, डाइकेटीन डेरिवेटिव अर्थात् एस्टर, एसिटिक एनहाइड्राइड, एरिलाइड्स, एमाइड्स और अन्य रसायन शामिल हैं। इसके उत्पादों का उपयोग विभिन्न उद्योगों जैसे फार्मास्यूटिकल्स, एग्रोकेमिकल्स, स्याही और कोटिंग्स, डाई और पिगमेंट, पेंट, प्रिंटिंग और पैकेजिंग आदि में किया जा रहा है। एलेम्बिक फार्मास्यूटिकल्स लिमिटेड, लॉरस लैब्स लिमिटेड, ग्रैन्यूल्स इंडिया लिमिटेड, हेटेरो लैब्स लिमिटेड, ह्यूबैक कलर प्राइवेट लिमिटेड, ह्यूबरग्रुप इंडिया प्राइवेट लिमिटेड, हुहटामाकी इंडिया लिमिटेड, मैकलेओड्स फार्मास्यूटिकल्स प्राइवेट लिमिटेड, सुवेन फार्मास्यूटिकल्स लिमिटेड, कलरटेक्स इंडस्ट्रीज प्राइवेट लिमिटेड और यूपीएल लिमिटेड इसके कुछ ग्राहक हैं।

 इस शेयर की चर्चा करना क्यों जरूरी हो जाता है ?

दरअसल इस शेयर  की चर्चा करना इसलिए जरुरी  हो जाता है क्योंकि जो शेयर काफी उठापटक वाला शेयर  रहा है । इस शेयर की लिस्टिंग मार्च 2021 में हुई थी और यह ₹156 पर लिस्टिंग हुई थी ।और बहुत जल्दी इस शेयर  का प्राइस सितंबर 2021 में ₹628 के आसपास चला गया ।उसके बाद यार शेयर डाउनट्रेंड दिखाने लगा उसके बाद या शेयर धीरे-धीरे डाउन होते होते ₹220 के आसपास आ गया । वर्तमान समय में यह शेयर ₹263 के आसपास ट्रेड  कर रहा है ।इसलिए जिन लॉन्ग टर्म इन्वेस्टर्स  इस शेयर को 300 400 500 या ₹600 के आसपास खरीदा था वह इन्वेस्टर्स  उसमें आज ही पूरी तरह से फंसे हुए हैं। या कई इन्वेस्टर अपना लॉस  बुक करके इस share से बाहर निकल चुके हैं ।

Shareholding

इस बात की चर्चा करते हैं कि इस शेयर में कौन कौन सी पार्टी बची हुई है यानी कि शेयर होल्डिंग की बात कर लेते हैं ।

इस share में वर्तमान समय में  प्रोमोटर की 72.3% की हिस्सेदारी है और  उसके बाद पब्लिक की हिस्सेदारी 25.59% है । FII की हिस्सेदारी 0.48% है ।डीआईआई की हिस्सेदारी 1.48% है ।

कंपनी के थोड़ा 1 साल के प्रदर्शन की बात ही कर लेते हैं

कंपनी के शेयर ने पिछले 3 महीनों में 6 परसेंटेज के नेगेटिव RETURN  दिए  हैं और पिछले 1 साल में 10% के आसपास के नेगेटिव रिटर्न दिए  हैं इसके अलावा इस साल अभी तक कंपनी का शेयर 11%  नेगेटिव RETURN दिए है । 

कंपनी में निवेश करने से पहले कंपनी के फंडामेंटल विश्वेश्वर करना जरूरी हो जाता है । 

कंपनी की स्थिति last quarter  से या तो खराब नहीं हुई है या फिर स्टेबल बनी हुई है ।QOQ आधार पर कंपनी के फंडामेंटल या तो स्थिर हैं या फिर ज्यादा खराब नहीं है ।लेकिन ईयर ऑन द ईयर बेसिस पर कंपनी के फंडामेंटल काफी कमजोर होते हैं ।

 QOQ बेसिस  पर कंपनी का नेट प्रॉफिट बड़  रहा है और रेवेन्यू भी बढ़ रहा है ।FII,PFI और instutions अपनी शेरहोल्डिंग थोड़ा-थोड़ा पढ़ा रहे हैं ।कंपनी जीरो  प्रमोटर pledge  वाली कंपनी है और कम डेब्ट वाली कंपनी  है ।

कंपनी के शेयर के क्या-क्या कमजोर पॉइंट हैं 

कंपनी के शेयर में म्यूचल फंड ने अपनी हिस्सेदारी घटाई  है ।साल दर साल कंपनी का रेवेन्यू और प्रॉफिट गिर रहा है ।कंपनी कमजोर फाइनेंशियल वाली कंपनी है। साल दर साल क्वार्टरली रिवेन्यू गिर  रहा है ।ऑपरेटिंग प्रॉफिट मार्जिन भी गिर रहा है ।

कंपनी के कमजोर फाइनेंशियल और फिर से 2 साल के चार्ट को देखकर क्या आपका मन इस शेयर को buy  करने का कर रहा है या फिर हम इस पर चर्चा क्यों कर रहे हैं ?कमेंट सेक्शन में अपनी राय जरूर दें ।

Report of Brokers

ब्रोकर की रिपोर्ट की भी चर्चा कर लेते हैं ।आनंदराठी ₹310 का टारगेट तथा केआर चौकसी ने ₹341 का टारगेट शेयर किया हुआ है ।यह दोनों ही रिपोर्ट मई 2023 की है ।

एक इन्वेस्टर  को इस शेयर में निवेश करते समय क्या रणनीति बनानी चाहिए ।

दोस्तों इस शेयर के फंडामेंटल्स की चर्चा तो हम लोग कर ही चुके हैं अब इसके टेक्निकल पैरामीटर्स पर भी focus  रखती होगी ।

कंपनी का शेयर ₹220 के आसपास साल के नीचे के स्तर को छूने के बाद वर्तमान समय में ₹263 के आसपास ट्रेड कर रहा है ।ट्रेडिंग सेशन में  256 के रजिस्टेंस को तोड़कर एक ब्रेकआउट तो दे ही दिया है ।लेकिन कंपनी के शेयर में यहां से बहुत ज्यादा तेजी बहुत जल्दी हो जाएगी। यह कहना बहुत मुश्किल है यदि यहां से शेयर नीचे की तरफ गिरकर 240 के आसपास आता है तो वहां पर एक खरीदने की opportunity  बनती है।यहां पर भी उन्हीं इन्वेस्टर को खरीदारी की सोचनी चाहिए जो बहुत ज्यादा long-term इन्वेस्टर है ।220 से ₹240 के आसपास इस शेयर के प्राइस ने बॉटम  तो बना ही लिया है। इसलिए इस प्राइस रेंज के आसपास इस शेयर को खरीदने में किसी तरह का बहुत ज्यादा नुकसान नहीं होगा ।इसलिए यहां शेयर लो रिस्क और हाई रिवॉर्ड वाला शेयर बन सकता है। सभी केमिकल सेक्टर की कंपनियां बुरे दौर से गुजर रही हैं यदि उनके अच्छे दिन आने शुरू हो गए तो इस शेयर में जो लोग कम प्राइस पर इनवेस्टेड  हैं उन्हें बहुत अच्छा प्रॉफिट मिल सकता है ।

डिस्क्लेमर 

दोस्तों इस शेयर में खरीदारी और बिकवाली की हमारी कोई भी राय  नहीं हूं। सभी इन्वेस्टर्स को अपनी आर्थिक सलाहकार से पुछकर  ही इस शेयर में खरीदारी और बिकवाली की राय रखनी चाहिए यह आर्टिकल पूरी तरह से एजुकेशनल परपज से लिखा गया है ।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *