Tue. Apr 23rd, 2024

आजादी के बाद से ही भारत में सरकारों का ध्यान महिलाओं के उत्थान तथा उनकी तरक्की के दिशा में लगातार रहा है ।आज देश के विभिन्न क्षेत्रों में महिलाएं पुरुषों की बराबरी कर रही हैं ।कई सरकारी संस्थानों में महिलाओं के लिए आरक्षण की व्यवस्था की गई है ताकि उनका उचित अनुपात में नियुक्तियां हो सके ।आज देश की विभिन्न संस्थाओं यहां तक की सेवा में भी महिलाओं को उचित प्रतिनिधित्व मिल रहा है ।महिलाएं देश की आबादी का आधा हिस्सा है ।इसलिए उनकी तरक्की में ही देश की तरक्की सुनिश्चित है ।इसके अलावा भारत में ज्यादातर महिलाएं घरेलू महिलाएं होती हैं और उनका घर चलाने के साथ-साथ उनके पास कुछ ना कुछ ऐसा रोजगार होना चाहिए या उनके सशक्तिकरण का कोई ना कोई जरिया होना चाहिए जिससे कि घर संभालने के साथ-साथ उनके पास कोई इनकम का सोर्स आ सके ।क्योंकि भारत में अभी भी 82% पुरुषों के मुकाबले केवल 18 परसेंट महिलाएं ही कमाई कर रहे हैं
इसलिए आज के आर्टिकल में हम महिलाओं के सशक्तिकरण के द्वारा भारत सरकार की वर्तमान समय में कौन-कौन सी योजनाएं चल रही हैं उनके विस्तार से व्याख्या करेंगे

वर्तमान समय में भारत में महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए निम्न सरकारी योजनाएं सक्रिय है

1-लखपति दीदी योजना

लखपति दीदी योजना क्या है?

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट 2024 भाषण में मोदी सरकार द्वारा शुरू की गई लखपति दीदी योजना के बारे में बताया ।वित्त मंत्री ने कहा कि इस योजना के तहत महिलाओं को सशक्त किया जा रहा है । एक करोड़ महिलाए लखपति दीदी बन चुकी है जो देश के लिए सबसे बड़ी उपलब्धि है। अब 3 करोड़ लखपति दीदी बनाने का उन्होंने लक्ष्य रखा है। महिलाओं की आर्थिक स्थिति सुधारने के लिए उन्हें स्किल डेवलपमेंट ट्रेनिंग प्रोग्राम देने के लिए महिलाओं को पैसा कमाने के योग्य बनाने के लिए मोदी सरकार ने इस योजना को शुरू किया है। महिलाओं को अपना बिजनेस शुरू करने के लिए इस योजना के माध्यम से उन्हें दिशा दी जा रही । स्वयं सहायता समूह से जुड़कर इस योजना का लाभ उठाया जा सकता है अपने नजदीकी आंगनबाड़ी केंद्र के जरिए भी इस योजना के बारे में जानकारी प्राप्त की जा सकती है ।

इस योजना मई कौन सी ट्रैंनिंग मिलेगी ?

इस योजना के तहत महिलाओं को प्लंबिंग के काम की ट्रेनिंग दी जाती है ।यह काम अभी तक पुरुष ही करते थे लेकिन अब महिलाएं भी इस काम को कर सकेंगे क्योंकि सरकार ऐसा मानती है कि महिलाएं भी पुरुष से कम इसके अलावा इस स्कीम के तहत महिलाओं को एलईडी बल्ब बनाने का भी काम सिखाया जाएगा सभी घरों में आजकल एलईडी बल्ब का उपयोग होता है क्योंकि यह लाइट कम खर्च करते हैं तो इसकी भी आपको सही तरीके से ट्रेनिंग दी जाएगी ।और इसके अलावा महिलाओं को ड्रोन चलाने की भी ट्रेनिंग दी जाएगी ।कई सारे जगह पर ड्रोन की मदद ली जाती है जैसे प्राकृतिक आपदाओं में इसका उपयोग बहुत होने लगा है ।ड्रोन का संचालन कैसे करते हैं इसके अलावा अगर ड्रोन में कोई खराब ड्रोन की मरम्मत से संबंधित ट्रेनिंग भी इसकी में आपको दी जाएगी।

योग्यता तथा कैसे लाभ लेना है ?

यह योजना देश के हर राज्य में संचालित स्वयं सहायता समूह के माध्यम से क्रियान्वित की जा रही है जैसा कि इस योजना के नाम से पता चलता है की योजना महिलाओं के लिए ही है ।भारत के किसी भी राज्य की महिलाएं इस योजना का लाभ उठा सकती है ।स्वयं सहायता समूह से जुड़ने की इस योजना के लिए किसी भी प्रकार की आयु सीमा का बंधन नहीं है यानी किसी भी उम्र की महिला का लाभ उठाने के लिए आप कैसे अप्लाई कर सकते हैं। इस योजना के तहत स्वयं सहायता समूह बिजनेस प्लान तैयार करेगा कि आपका आवेदन को भी तैयार करने में यह आपकी मदद करेगा । अगर सरकार की तरफ से आपका आवेदन स्वीकार कर लिया जाता है तो आप इस योजना का लाभ उठा सकते इस योजना में आप ऑनलाइन या फिर ऑफलाइन अप्लाई कर सकते हैं कि इस योजना के तहत कई राज्यों में ₹500000 तक का ब्याज मुक्त का भी

डाक्यूमेंट्स

योजना के लिए आपको कुछ डॉक्यूमेंट लगेंगे जैसे कि आपका आधार कार्ड, आपका पैन कार्ड, निवास का जो भी प्रमाण पत्र है वह आपको देना होगा ।इनकम सर्टिफिकेट देना होगा रजिस्टर्ड जो भी आपका मोबाइल नंबर है वह देना होगा बैंक अकाउंट की डिटेल देनी होगी

इसके अलावा ईमेल आई दी की भी जानकारी देनी होगी ।

2- Mahila Samman Savings Certificate (MSSC)

इस योजना की अधिक जानकारी इ लिए यहाँ क्लिक करे

वन स्टॉप सेंटर योजना।

वन स्टॉप सेंटर योजना। यह योजना जो महिला एवं बाल विकास मंत्रालय द्वारा कार्यंगित है इसका नाम वन स्टॉप सेंटर योजना यानी एक ही छत के नीचे मदद प्रदान करने की योजना है।यह योजना 1 अप्रैल 2015 से पूरे देश में राज्य सरकारों केंद्र शासित प्रदेश प्रशासन के माध्यम से लागू की जा रही है ताकि निजी और सार्वजनिक दोनों स्थानों पर हिंसा से प्रभावित महिलाओं को एक ही छत के नीचे एकीकृत शहर व सहायता प्रदान की जा सके ।इसके तहत महिलाओं के खिलाफ किसी भी प्रकार की हिंसा के खिलाफ लड़ने के लिए पुलिस चिकित्सा कानूनी सहायता व परामर्श मनोवैज्ञानिक सहायता सहित कई सेवाओं के लिए तत्काल आपातकालीन व गैर आपातकालीन सहायता प्रदान की जाती है ।इन केदो के सुचारू संचालन के लिए पैनल में शामिल एजेंटीयों या व्यक्तियों की नियुक्ति आदि की जिम्मेदारी संबंधित राज्यों केंद्र शासित प्रदेशों के जिला प्रशासन के पास है । इस योजना के अंतर्गत हिंसा जाति वर्ग धर्म सेक्सुअल ओरियंटेशन या फिर किसी भी वैवाहिक स्थिति से प्रभावित 18 साल से कम उम्र की लड़कियों सहित सभी महिलाओं का समर्थन किया जाएगा यह योजना महिला सुरक्षा की दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण योजना है ।

3-STEP

हम बात करने जा रहे हैं एक ऐसी योजना के बारे में जो महिलाओं के लिए बेहद लाभकारी सिद्ध हो रही है इस योजना का नाम है स्टेप्स ।महिलाओं के लिए प्रशिक्षण और रोजगार कार्यक्रम। स्टेप की फुल फॉर्म है सपोर्ट टू ट्रेनिंग एंड एंप्लॉयमेंट प्रोग्राम फॉर वूमेन ।हमारे भारत सरकार ने कई प्रकार की योजनाओं की शुरुआत करी है ताकि महिलाओं के खिलाफ हो रही हिंसा और भेदभाव को रोका जा सके ।उनमें से ही एक योजना है स्टेप प्रोग्राम इस योजना का मुख्य उद्देश्य उन स्किल्स को प्रदान करना है जो महिलाओं को रोजगार की सुविधा प्रदान करेंगे और उन्हें सशक्त और कौशल बनेंगे ।इस योजना के तहत महिलाओं को उनकी रुचि के हिसाब से प्रशिक्षण दिया जाता है बहुत सारे क्षेत्र में महिलाओं को प्रशिक्षण दिया जाता है यह क्षेत्र है कृषि ,बागवानी ,खाद्य व्यवसाय करने का मौका देना चाहती है इस योजना के अंतर्गत सरकार उन ऑर्गेनाइजेशंस को वित्तीय सहायता प्रदान करती है जो स्टेप प्रोग्राम को अपने NGO मैं चलाते हैं और महिलाओं की सहायता करते हैं इस योजना के बारे में और कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं तो आप इसकी ऑफिशल वेबसाइट पर जा सकते हैं जो की है www.cd.nic

4-Mahila E-Haat Scheme

यह स्कीम साल 2015 में शुरू की गई थी यह स्कीम महिलाओं के लिए या महिला उद्यमियों के लिए ऑनलाइन मार्केटिंग प्लेटफार्म उपलब्ध कराती है ।महिला ई हाट पोर्टल पर जाकर अपना सामान बेच सकती हैं ।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *